Tag Archives: Freedom Struggle

Theog, Madhan Movement (ठियोग, मधान आंदोलन)

By | November 6, 2016

ठियोग, मधान आंदोलन (Theog, Madhan Movement): सन 1926 – 28 में इन रियासतों में जन आंदोलन शुरू हुआ । यहाँ आंदोलन को कुचलने के लिए ‘बलूची’ और ‘जेहलमी’ पुलिस (Jehlemi Police ) को तैनात किया गया । ‘मियां खड़क सिंह’ (Mian Khadak Singh) ने ठियोग आंदोलन को नया जन्म दिया ।

Chamba Agitation (चम्बा आंदोलन )

By | November 6, 2016

चम्बा आंदोलन (Chamba Agitation): चम्बा में ‘कर’ के खिलाफ व ‘बेगार’ की समाप्ति के लिए 1896 में ‘भटियात वज़ीरात’ (Bhattiyat Wazirat) दल बना कर संघर्ष शुरू किया गया । हालाँकि सरकार ने इसे दबाव बनाकर कुचल दिया ।

Kunihar Struggle (कुनिहार संघर्ष)

By | November 6, 2016

कुनिहार संघर्ष (Kunihar Struggle): ये शिमला पहाड़ी क्षेत्र की 7 वर्ग मील में विस्तृत एक छोटी सी रियासत थी। प्रथम आवाज राणा के अभद्र पूर्ण व्यवहार के विरुद्ध 1920 में उठी । उस समय रियासत का राणा हरदेव सिंह (Hardev Singh) था।

Rampur Bushahr Movement ( रामपुर बुशहर आंदोलन )

By | November 6, 2016

रामपुर बुशहर आंदोलन (Rampur Bushahr Movement) 1906 में बुशहर में (कर्मचारियों के विरुद्ध असहयोग आंदोलन) दुजम (DUJJAM) शुरू किया गया । पं. पदम देव ने रीत (महिलाओं की खरीद फरोख्त) के विरुद्ध आवाज उठाई, साथ ही छुआछूत व् बाल विवाह का भी विरोध किया ।

Sirmaur Satyagraha (सिरमौर सत्याग्रह)

By | November 6, 2016

सिरमौर सत्याग्रह (Sirmaur Satyagraha): 1920 के बाद सिरमौर में राजनितिक जागृति का उत्थान शुरू हो गया था । ‘चौधरी शेरजंग’ ने पंजाब में हुए क्रांतिकारी गतिविधियों से प्रभावित होकर एक गुप्त संग़ठन का गठन किया । इसी के चलते 1939 में ‘सिरमौर प्रजा मंडल’ का गठन किया गया । इसके प्रमुख नेता श्री चौधरी शेरजंग, शिवानंद रमौल, देविन्द्र… Read More »

Dhami Tragedy (धामी कांड)

By | November 6, 2016

धामी कांड (Dhami Firing Tragedy): पहाड़ी रियासतों के जन संघर्ष के मार्ग में धामी गोली कांड एक काला अध्याय है । धामी एक छोटी सी रियासत थी जो राणा शासन के अधीन थी ।

Bilaspur Struggle (बिलासपुर संघर्ष)

By | November 6, 2016

बिलासपुर संघर्ष (Bilaspur Struggle): 1905 में भूमि कर बंदोबस्त के समय से ही लोग इसके विरुद्ध थे । बिलासपुर में भूमि कर अन्य ब्रिटिश अधीन जिलों जैसे होशियारपुर और काँगड़ा की अपेक्षा ज्यादा वसूला जा रहा था । 1930 में भूमि बंदोबस्त अभियान शुरू कर दिया गया । “भदरपुर प्रांगण” के लोगों ने गाँव में काम कर रहे सरकारी… Read More »

Suket Satyagraha (सुकेत सत्याग्रह)

By | November 6, 2016

सुकेत सत्याग्रह (Suket Satyagraha-1948) : मंडी की तरह, 1914 के ग़दर आंदोलन का प्रभाव सुकेत पर भी पड़ा था । बेगार प्रथा और भ्रष्ट प्रशासन के विरुद्ध 1942 में लोगों ने आवाजें उठानी शुरू कर दी ।

Mandi Conspiracy (मंडी षड्यंत्र)

By | November 6, 2016

मंडी षड्यंत्र  (1914 -15): बेगार तथा राजा भवानी सेन और वजीर जीवा नन्द पाधा के उत्पीड़न से तंग आ कर मंडी के लोगों ने सरकाघाट के शोभा राम (Shobha Ram) के नेतृत्व में 1909 में मंडी जन आंदोलन शुरू किया ।