Category Archives: Editorials

सूरजकुंड मेले में थीम स्टेट हिमाचल

By | February 20, 2020

हिमाचल प्रदेश राज्य हस्तशिल्प एवं हथकरघा निगम लिमिटेड राज्य के गरीब बुनकरों और कारीगरों के हितों की सहायता और प्रचार के उद्देश्य से वर्ष 1974 में अस्तित्व में आया। कहा जाता है कि कुरुक्षेत्र की लड़ाई को दर्शाने वाला चंबा रूमाल जिसे चंबा के राजा गोपाल सिंह ने एक अंगे्रज को 19वीं शताब्दी में उपहार… Read More »

हिमाचल में अपराधों का बढ़ता साया

By | January 8, 2020

GS-2 ( governance and its related issues in HP) Topic: 1. Cybercrime and drug menace – mechanism to detect and control it in Himachal Pradesh. (GS-2, UNIT-3) 2. Issues and Challenges. Programmes and policies for the welfare of differently-abled persons, women and children in Himachal Pradesh. (GS-2, UNIT-2) 3. Various policies framed by the Government of… Read More »

हिमाचल में सुशासन व प्रशासनिक सुधार

By | January 1, 2020

GS-2 (Governance and its related issues in HP) Topic: 1. Governance in Himachal Pradesh: The Himachal Pradesh Public Service Guarantee Act 2011; Right to Information Act, 2005 and rules made thereunder by the Himachal Pradesh Government. (GS-2, UNIT-2) 2. Administrative reforms for effective public service delivery in Himachal Pradesh. (GS-2, UNIT-2) हाल ही में कार्मिक… Read More »

जातीय भेदभाव एक सामाजिक बीमारी

By | December 23, 2019

GS-1 (Governance and its related issues in HP) Topic: Various policies framed by the Government of Himachal Pradesh for the socio-economic development of Scheduled Castes and Scheduled Tribes of the State. हाल ही में जातीय भेदभाव के चलते सिराज विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने बाले उप क्षेत्र बाली चौकी के नौणी प्राइमरी स्कूल में एक… Read More »

जैव विविधता का संरक्षण समय की मांग: हिमाचल प्रदेश

By | December 10, 2019

Topics: GS1 (Geography/Biodiversity of HP) GS3 ( Environmental Concerns in HP, Biodiversity in HP) जैव विविधता का अर्थ पृथ्वी पर पाए जाने वाले जीवों की विविधता से है। अर्थात् किसी निश्चित भौगोलिक क्षेत्र में पाए जाने वाले जीवों एवं वनस्पतियों की संख्या एवं प्रकारों को जैव विविधता माना जाता है। 1992 में रियो डि जेनेरियो… Read More »

जनमंच प्रत्यक्ष लोकतंत्र का आधार: हिमाचल प्रदेश

By | December 8, 2019

GS-1 (Governance in HP) Topic: Administrative reforms for effective public service delivery in Himachal Pradesh. हाल ही में प्रकाशित जनमंच के आंकड़ों के अनुसार जिला कुल्लू जनसमस्याओं के निपटान में सबसे अव्वल रहा है। जिले में अधिकारियों को प्राप्त कुल शिकायतों में 97वे प्रतिशत शिकायतों का समय रहते निवारण किया जा चुका है। वहीं पूरे… Read More »

हिमाचल में वजूद को तलाशती सहकारी सभाएं

By | December 6, 2019

GS-3 (Socio-economic development of HP) Topic: Economy of Himachal Pradesh GS-1 (Employment potential in HP) Topic: Employment generation and potential. हाल ही में राज्य स्तरीय सहकारिता सप्ताह समारोह का आयोजन उन्ना के हरोली में सहकारिता एवं सामाजिक न्याय मंत्री डॉ राजीव सैजल की अध्यक्षता में पूर्ण हुआ। हिमाचल में सहकारिता का भविष्य क्या हो इस… Read More »

महिलाओं के खिलाफ बढ़ता अपराध: विकृत मानसिकता की उपज

By | December 6, 2019

GS-1 (Society) Topic: Women empowerment and social justice: Policies for women Empowerment in India, Laws for protection of women, women security and safety initiatives in India. कभी दिल्ली मे निर्भया, तो कभी हिमाचल में गुड़िया और आज हैदराबाद में दिशा तो कल देश के किसी कोने में कोई और नाम होगा।आखिर कब तक यह सिलसिला… Read More »